नर्मदा यात्रा के बाद हाईकमान ने बनाई दूरी तो पार्टी लाइन पर लौटे दिग्विजय

भोपाल। कुछ अलग हटकर काम करने को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह इन दिनों फिर चर्चा में हैं. नर्मदा यात्रा के बाद अब दिग्विजय सिंह पार्टी के निर्णय पर काम करने की बात कह रहे हैं. उन्होंने नर्मदा यात्रा के बाद प्रदेश में राजनीति यात्रा निकालने का ऐलान किया था. जब उनसे राजनीति यात्रा को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि राजनीति यात्रा की रूपरेखा पार्टी तय करेगी. पार्टी के तय करने के बाद ही मैं राजनीति यात्रा शुरू करूंगा.

दरअसल, सूत्रों के अनुसार नर्मदा यात्रा के बाद दिग्विजय सिंह राहुल गांधी से मिलने दिल्ली गए थे. चर्चा है कि दिल्ली में कई दिनों तक रूकने के बावजूद उनकी मुलाकात राहुल गांधी से नहीं हो सकी. यह भी बताया जा रहा है कि नर्मदा यात्रा के समापन कार्यक्रम में राहुल गांधी के आने की खबर थी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

दिल्ली में हुई कांग्रेस की बैठक, जिसमें कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, जीतू पटवारी, विवेक तन्खा, दीपक बाबरिया समेत कांग्रेस के कई नेता मौजूद थे. इस बैठक में भी दिग्विजय सिंह को जगह नहीं मिली. अब नर्मदा यात्रा के बाद दिग्विजय सिंह से हाईकमान की दूरी बनाने के पीछे कई मायने भी निकाले जा रहे हैं.

कमलनाथ को नए प्रदेश अध्यक्ष बनाने के सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि इसका पता दिसंबर 2018 में चलेगा. दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह का प्रदेश अध्यक्ष को लेकर किया गया विवादित ट्वीट भी राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बन गया है. दिग्विजय सिंह की हाईकमान से चल रही दूरियां और दिल्ली में हुई बैठक में दिग्विजय की अनुपस्थिति से कई राजनीतिक सवाल उठने लगे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *