कारोबारी से 27.50 लाख की ठगी, विदेशी कंपनियों से करोड़ों को मुनाफा दिलाने का झांसा दिया

भोपाल। विदेशी कंपनियों से अनुबंध कर करोड़ों रुपए का कारोबार दिलवाने का झांसा देकर पुणे के जालसाजों ने राजधानी के एक उद्योगपति से 27.50 लाख रुपए ठग लिए। अदालत के आदेश के बाद गोविंदपुरा पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।

गोविंदपुरा पुलिस के मुताबिक अरेरा कॉलोनी निवासी सौरभ अग्रवाल (40) का हबीबगंज में एन्सीलरी इंडस्ट्रियल स्टेट के नाम से मेटल का कारोबार है। सौरभ ने अदालत में परिवाद दायर किया था। उसमें बताया था कि पुणे स्थित मेसर्स एलकोर मरजर्स एण्ड एक्युजिशन्स प्रालि. के संचालक मंडल द्वारा उनके साथ 27.50 लाख की ठगी की गई।

कंपनी के जार्ज मैथ्यू मोलाकल ने मेरी फर्म का कारोबार बढ़ाने के लिए विदेशी कंपनियों से करार कराने के साथ ही न्यूनतम 2 मिलियन डालर का करोबार दिलाने का भरोसा दिलाया था। इसके लिए वर्ष 2012 में जार्ज मैथ्यू ने उनसे मुलाकात की थी। तब विदेश की कंपनियों से कारोबार दिलाने की गारंटी लेकर बदले में कमीशन की बात की थी। साथ ही दावा किया था कि यदि कोई कंपनी अनुबंध के बाद भी उन्हें कारोबार नहीं देती है, तो वह सिंगापुर की अदालत के जरिए उसे कारोबार देने के लिए बाध्य कर देगी। अदालत का खर्च भी एल्कोर कंपनी वहन करेगी।

विदेशी कंपनी से कराया अनुबंध

सौरभ के अनुसार जार्ज मैथ्यू विदेशी व्यक्ति लेविस वेस को लेकर उनकी कंपनी के दफ्तर आया था। उसने लेविस को ऑल मेटल्स एण्ड फोर्ज ग्रुप का डायरेक्टर बताया। साथ ही 22 अप्रैल 2014 को लेविस वेस की फर्म के साथ एमओयू साइन हुए। 27 अप्रैल-14 को ई-मेल के जरिए जार्ज मैथ्यू ने बताया कि एमओयू ही उनका संयुक्त उपक्रम अनुबंध है। यदि वह उन्हें कमीशन के तौर पर 10 लाख रुपए देते है,तो उनकी कंपनी को 2 मिलियन डालर का कारोबार मिलने लगेगा। इस तरह जार्ज ने उनसे 10 लाख रुपए ले लिए।

इस तरह गुमराह करते हुए जार्ज मैथ्यू मोलाकल और उसकी फर्म के थामस मैथ्यू मोलाकल, मीनाक्षी गौरे, एरिक एलन कोहन और निखिल देशपांडे ने 27 लाख 50 हजार रुपए हड़प लिए। इसके बाद भी जब उन्हें विदेशी कंपनियों से कारोबार नहीं मिला, तो संदेह हुआ। संपर्क करने पर पता चला कि उनके साथ साजिश के तहत ठगी हुई है। इसके बाद उन्होंने अदालत का दरवाजा खटखटाया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *