दिग्विजय सिंह का पीएम मोदी पर निशाना, कहा- नोटबंदी के सभी दावे फेल

भोपाल। नर्मदा यात्रा समाप्त कर राजनीतिक परिवेश में दोबारा लौटे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्मंत्री और कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी के सभी दावे फेल हो गए. उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि केंद्र से लेकर राज्य में बीजेपी की सरकार है. दो हज़ार के नोट और ATM से कैश कहां गए ये सरकार और रिज़र्व बैंक बताए.

उन्होंने कैश की किल्लत पर सीएम शिवराज सिंह के उस बयान की कड़ी आलोचना की जिसमें उन्होने दो हज़ार के नोटों के गायब होने के पीछे किसी षड़यंत्र की आशंका जाहिर की थी. उन्होने कहा कि किसी भी प्रांत का सीएम इस हालत के लिए यदि विपक्ष पर आरोप लगाते हैं तो ये उनकी क़ाबिलियत पर सवालिया निशान हैं.

दिग्विजय सिंह पत्नी अमृता राय के साथ इंदौर पहुंचे जहां उन्होने नर्मदा में अवैध खनन को लेकर सीएम शिवराज सिंह पर हमला बोला.  उन्होंने कहा कि हर साल 10 हजार अवैध खनन की मामले दर्ज होते हैं, जिसमें 54 करोड़ का अर्थदंड वसूला जाना था लेकिन केवल 27 लाख रुपए ही वसूले गए और अवैध रेत खनन में पकड़े गए डंपरों को भी राजसात नहीं किया. बिना मुख्यमंत्री के संरक्षण के संभव नहीं है. सीएम के गृह क्षेत्र में भी 50-50 फीट गड़डे अवैध खनन से से बन गए हैं.

साथ ही उन्होंने यात्रा के बाद उनके जीवन मे बदलाव पर भी अपनी बात रखी. उन्होंने पीएम मोदी के पकोड़े बेचने के बयान पर भी चुटकी ल. इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि मेरा काम सिर्फ कांग्रेस ही सरकार बनाने का होगा, कोई भी मुख्यमंत्री बने उसपर बाद में विचार करेंगे.
उन्होंने किसानों को डिजिटल पेमेंट द्वारा पैसे देने के चलते उनमें नाराज़गी बढ़ने की बात कही. उन्होंने सीएम शिवराज द्वारा लगाए गए 6 करोड़ से अधिक पौधे में भारी भ्रष्टाचार होने की बात कही. कहा उन्हे तो बामुश्किल 60 हजार से ज्यादा पौधे दिखाई नहीं दिए.

वहीं मीडिया से सवालों के जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान किए आत्ममंथन के बाद मेरा लक्ष्य सिर्फ कांग्रेस को एक करना है, जिसके लिए संगत में पंगत नाम से मुहिम चलाई जाएगी. प्रदेश में सिंधिया के नाम को तय करने को लेकर कहा सीएम का चेहरा तय करने का काम सिर्फ राहुल गांधी करेंगे. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस में व्याप्त गुटबाज़ी को नकारते हुए कहा कि, कांग्रेस से ज्यादा गुटबाज़ी भाजपा में है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *