मवेशियों के काटे जाने की बदबू से भडक़े ग्रामीण ने जमकर मचाया हंगामा, वाहनों में तोडफ़ोड़

जबलपुर। पनागर से तकरीबन 6 किलो मीटर दूर पहाड़ी के पीछे मैदान में जानवर काटे जाने को लेकर हंगामा मच गया। मवेशियों के काटे जाने के बाद वातावरण में फैली बदबू से ग्रामीणजन पहाड़ी पर चढक़र मैदान में पहुंचे तो देखा वहां बड़ी संख्या में जानवरों के शरीर के अवशेष और हड्डियां पडीं थीं।

तत्काल ही घटना की सूचना पुलिस को दिये जाने के बाद जब पुलिस नहीं पहुंची तो गुस्साये ग्रामीणों ने मौके पर मिले वाहनों में तोडफ़ोड़ की। मामले की गंभीरता को देखते हुए जबलपुर से वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस का कहना है कि यहां कोई अवैध काम नहीं हो रहा था मृत मवेशियों की कटाई की जाती थी।

पनागर थाना प्रभारी उमेश तिवारी ने बताया कि परियट में डेरियों में जो मवेशी मृत हो जाते हैं उनके डिस्पोजल के लिये तहसीलदार द्वारा मझगवां गांव की पहाड़ी के पीछे जमीन आवंटित की गई है। मझगवां के ग्रामीणों का आक्रोश है कि उससे बदबू आती है यहां जो केमिकल रखा था उससे जनवरों के अवशेष गलाये जाते थे।

पनागर के स्थानीय नेताओं ने इस बात पर आक्रोश जताया और कहा कि यहां मवेशी न काटे जायें। पुलिस मवेशी काटने वाले १३ लोगों को थाने लाई और ग्रामीणों के साथ बैठकर उसने चर्चा हुई। वहां कोई भी अवैध काम नहीं हो रहा था और न जानवर काटे जा रहे थे। बल्कि मृत मवेशियों के डिस्पोजल की कार्यवाही यहां होती थी। ग्रामीणों को बदबू आने की आपत्ति संज्ञान में आने के बाद तहसीलदार ने उन्हें आश्वस्त किया है कि शीघ्र ही इसका समाधान निकाला जायेगा या स्थान परिवर्तन किया जायेगा। इसके बाद मामला शांत हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *