CBSE पेपर लीक मामले में बैंक मैनेजर समेत तीन और गिरफ्तार

न्‍यूज डेस्‍क। आरोपी राकेश शर्मा ने व्हाट्सएप पर सबसे पहले महिला रिश्तेदार के मोबाइल पर हाथ से लिखे पेपर की कॉपी भेजी और फिर महिला ने ही इसे फार्वर्ड किया. बताया जाता है राकेश पीएचडी स्कॉलर है.

CBSE दसवीं और 12वीं और दसवीं के पेपर लीक मामले में दिल्ली की क्राइम ब्रांच टीम ने हिमाचल से ही तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें बैंक मैनेजर और कैशियर के अलावा एक महिला शामिल है. 

बता दें कि आरोपी महिला पहले ही गिरफ्तार किए गए आरोपी टीचर राकेश शर्मा की रिश्तेदार है. राकेश शर्मा ही इस पूरे पेपर लीक प्रकरण का मास्टरमाइंड है. उसी ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से पेपरों का बंडल चुपके से निकाल दिया था और हाथ से लिखकर महिला को व्हाट्स ऐप पर शेयर किया था.

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के अनुसार, यूनियन बैंक की ऊना शाखा के मैनेजर और हेड कैशयर को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है. इसके अलावा, आरोपी शिक्षक राकेश कुमार की रिश्तेदार महिला को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

बता दें कि इससे पहले, दिल्ली पुलिस ने ऊना के डीएवी सेंटेनरी स्कूल के टीचर राकेश शर्मा और क्लर्क के अलावा एक अन्य कर्मी को भी गिरफ्तार किया था.
रिश्तेदार के बच्चे को पास कराने के लिए कराया पेपर लीक
सीबीएसई 12वीं का इकोनॉमिक्स का पेपर लीक करने के मामले में पुलिस ने मास्टरमाइंड राकेश शर्मा को ऊना के संतोषगढ़ से उसके तीन साथियों के साथ गिरफ्तार किया था. राकेश शर्मा ही इस पेपर लीक कांड का मास्टरमाइंड है, जिसने अपने रिश्तेदार के एक बच्चे को पास कराने के लिए पेपर लीक किया.

पीएचडी होल्डर है मास्टरमाइंड राकेश
आरोपी राकेश शर्मा ने व्हाट्सएप पर सबसे पहले महिला रिश्तेदार के मोबाइल पर हाथ से लिखे पेपर की कॉपी भेजी और फिर महिला ने ही इसे फार्वर्ड किया. बताया जाता है राकेश पीएचडी स्कॉलर है.

ऊना के संतोषगढ़ निवासी राकेश पिछल 10 वर्ष से डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल में पढ़ता है. वहीं, ऊना के जखेड़ा निवासी अमित शर्मा पिछले 16 साल से डीएवी स्कूल में क्लर्क थे. तीनों को फिलहाल स्कूल से सस्पेंड कर दिया गया है. राकेश ने बैंक से चुपके से 12वीं का पेपर चुरा लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *