मप्र विस चुनाव की तैयारियों को लेकर बैठक बुलाने का फैसला अचानक लिया गया। इसके लिए बाबरिया और अजय सिंह को बैठक में पहुंचने का संदेश रीवा में भेजा गया। दोनों सोमवार को रीवा से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। वहीं, प्रदेश कमलनाथ और सिंधिया लोकसभा की कार्यवाही चलने के कारण दिल्ली में ही हैं।

बसपा-सपा गठबंधन पर चर्चा

कांग्रेस के सर्वे रिपोर्ट के आधार पर अब बसपा और सपा के गठबंधन पर अंतिम फैसला होने की संभावना है। प्रदेश प्रभारी और नेता प्रतिपक्ष के विंध्य-बुंदेलखंड दौरे हो जाने से भी पार्टी की उप्र से सटे बसपा-सपा प्रभाव वाले विस क्षेत्रों की तस्वीर साफ हो गई है। इसलिए गठबंधन पर सभी नेता मिलकर अंतिम फैसला ले सकते हैं।

सीएम चेहरे पर चर्चा संभव

बताया जाता है कि प्रदेश में भाजपा द्वारा कांग्रेस में सीएम के चेहरे को लेकर भी बैठक में चर्चा होने की संभावना है। प्रदेश प्रभारी के सीएम चेहरे को लेकर दिए जा रहे बयानों पर भी नेता हाईकमान के सामने मुद्दा उठा सकते हैं। बैठक में चुनाव को लेकर हाईकमान प्रदेश में हुए कामकाज की समीक्षा करेगा। साथ ही आने वाले समय में समितियों के लक्ष्य बताए जाएंगे।