पटवारियों के लिए मुसीबत बना नया जीआईएस सॉफ्टवेयर

उज्जैन : राजस्व कार्यों के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे तकनीकी प्रयोग पटवारियों के लिए मुसीबत का सबब बन गए हैं। पटवारी संघ का कहना है नए वेब जीआईएस सॉफ्टवेयर के कारण जमीनों की हेराफेरी हो चुकी और परेशान पटवारी हो रहे हैं। इन हालातों को देखते सॉफ्टवेयर और फसल गिरदावरी एप का बहिष्कार करने का फैसला पटवारी संघ ने लिया है। इस सिलसिले में सोमवार को कलेक्टरोट पर पटवारी संघ द्वारा ज्ञापन दिया जाएगा।

मप्र पटवारी संघ के संभागीय अध्यक्ष कैलाशसिंह राजपूत ने बताया वेब जीआईएस सर्वे और फसल गिरदावरी की विसंगतियों के कारण प्रदेशभर में इनके बहिष्कार का निर्णय लिया जा चुका है। सोमवार को कोठी पैलेस स्थित जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन कर प्रशासन को ज्ञापन सौंपा जाएगा तथा इन पर राजस्व के काम न करने के फैसले अवगत कराया जाएगा। पटवारी संघ के पदाधिकारियों का कहना है जीआईएस सॉफ्टवेयर के कारण प्रदेश के कुछ स्थानों पर जमीनों की हेराफेरी की घटनाएं हो चुकी हैं और पटवारियों को कोर्ट-कचहरी के चक्कर काटना पड़ रहे हैं। तहसीलों में नेट कनेक्टिविटी तथा संसाधन न होने से भी इन पर काम करना मुश्किल हो गया है। सॉफ्टवेयर कंपनी द्वारा डाटा अपडेट नहीं किया जा रहा। इसे पटवारियों से ठीक कराया जा रहा है।

वहीं, पटवारी संघ के संभाग अध्यक्ष का कहना है कि वेब जीआईएस सॉफ्टवेयर और फसल गिरदावरी एप के जरिए काम करना मुश्किल हो रहा है। लगातार काम का दबाव पटवारियों पर बढ़ता जा रहा है और तकनीकी त्रुटियों के कारण काम वक्त पर नहीं हो पा रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *