बाल-बाल बचीं हेमा मालिनी, आंधी-तूफान मेंकाफिले के आगे गिरा पेड़

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के मथुरा लोकसभाक्षेत्र से बीजेपी सांसद हेमा मालिनी रविवार को उस समय बाल-बाल बच गईं जब आंधी-तूफान की वजह से एक पेड़ अचानक उनके काफिले के आगे गिर गया. यह घटना उस समय हुई जब हेमा मालिनी एक गांव में सभा को संबोधित करके लौट रही थीं.

गनीमत रही कि खराब मौसम को देखते हुए सतर्क होकर वाहन चला रहे उनके चालक ने पेड़ से टकराने से पहले ही ब्रेक लगाकर गाड़ी को नियंत्रित कर लिया. उसके बाद सांसद के सुरक्षाकर्मियों एवं कार्यकर्ताओं ने मिलकर पेड़ हटाकर रास्ता साफ किया.

सांसद हेमा मालिनी चार दिवसीय दौरे पर गृहजनपद मथुरा आई हुई हैं. रविवार तीसरे दिन सांसद हेमा मालिनी मांट तहसील के मिठौली गांव में ग्रामीणों के साथ जनसंवाद कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंची थी.

 ग्रामीण के अनुसार, भाजपा सांसद हेमा मालिनी मांट तहसील के मिट्ठौली गांव में जनसभा करने वाली थीं. वे बीजेपी सरकार की चौथी वर्षगांठ से पहले वहां जनता को मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ के नारे का संदेश देने गई थीं.

हालांकि जब वे सभा को संबोधित कर ही रही थीं, तभी मौसम तेजी से बिगड़ने लगा. मौसम बदलते देख बीजेपी सांसद ने सभा छोड़कर वापस लौटने का फैसला किया. जब वे कुछ ही किलोमीटर पहुंची थीं कि उनके काफिले के आगे एक पेड़ आ गिरा. उनकी गाड़ी उससे टकराने से बच गई.

बाद में, बीजेपी कार्यकर्ताओं और पुलिसकर्मियों ने मिलकर भारी पेड़ को रास्ते से हटाया. इस बीच, उन्हें करीब आधा घंटा बीच सड़क पर बिताना पड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *